Skip to main content

Posts

Showing posts from November, 2019

संजु सैमसन बायोग्राफी - Sanju Samson Biography in Hindi

Sanju Samson  - संजु सैमसन भारतीय विकेट-कीपर बल्लेबाज है । यह भारती़य क्रिकेट के युवा प्रतिभाशाली खिलाडी़ है । यह आइपीएल में राजस्थान रॉयल्स की तरफ से खेलते है । संजु सैमसन घरेलु क्रिकेट में केरल की तरफ से खेलते है । यह केरला टीम के कप्तान रह चुके है । यह सलामी बल्लेबाज के रूप में खेलते है । राजस्थान रॉयल्स टीम के महत्वपुर्ण खिलाड़ी है ।
संजु सैमसन बायोग्राफी - Sanju Samson Biography in Hindi नाम (Name)        -    संजु सैमसन जन्म (Born)         -   11 नवम्बर 1994 पिता (Father)      -   विश्वनाथ सैमसन माता (Mother)    -   लीजी सैमसन पत्नी (Wife)        -   चारूलता कोच (Coach)     -   बीजु जॉर्ज शिक्षा (Edu.)       -  B.A दल (Team)       -  राजस्थान रॉयल्स , केेेरल
संजु सैमसन का जन्म और परिवार - Sanju Samson Born and Family संजु सैमसन का जन्म 11 नवम्बर 1994 को केरल राज्य के त्रिवेंद्रम शहर में हुआ था । संजु के पिता सैमसन विश्वनाथ एक रिटायर्ड पुलिस कांस्टेबल है , और माता लीजी सैमसन है । इसके अलावा संजु का एक छोटा भाई भी है ।
संजु सैमसन को बाल्यकाल से ही क्रिकेट में रूचि थी । इनके पिता ने इनका बह…

रॉबिन उथप्पा की जीवनी - Robin Uthappa Biography In Hindi

Robin Uthappa in Hindi  -    रॉबिन उथप्पा भारत के अनुभवी विकेटकीपर बल्लेबाज है , जो आइपीएल के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ीयों में से एक है । उथप्पा केरल के लिए घरेलु क्रिकेट खेलते है । कोलकाता नाइट राइडर्स को आइपीएल का खिताब दिलाने में इनका अहम योगदान है । यह आक्रामक शैली के विष्फोटक बल्लेबाज है । रॉबिन का क्रिकेट करियर उतार - चढाव वाला रहा है । क्रिकेटर रॉबिन उथप्पा की जीवनी - Robin Uthappa Biography In Hindiरॉबिन उथप्पा की जीवनी ( Robin Uthappa Biography in Hindi )
नाम ( Name ) -                   रॉबिन उथप्पा जन्मदिन (Birathday) -       11 Nov. 1985 ऊंचाई ( Height) -              5 ft , 7inch पिता ( Father ) -              वेणु उथप्पा पत्नी ( Wife ) -               शीतल गौथम पुत्र ( Son ) -                  नील नॉलम उथप्पा भुमिका ( Role ) -           बल्लेबाज धर्म ( Religion )-          ईसाई
रॉबिन उथप्पा की जानकारी - Robin Uthappa All Imformation In hindiBirthday ( जन्मदिन ) , Family ( परिवार )
रॉबिन उथप्पा का जन्म…

शुबमन गिल का जीवन परिचय - Biography of Shubman Gill In Hindi

Shubman Gill -शुबमन गिल का जीवन परिचय - Biography of Shubman Gill In Hindi
शुबमन गिल भारतीय टीम के युवा प्रतिभाशाली खिलाड़ी है । यह ओपनर बल्लेबाज की भुमिका निभाते है । शुबमन भारतीय क्रिकेट टीम के उभरते सितारे है । अंडर 19 वर्ल्ड कप 2018 में मैन ऑफ दी सीरीज रहे । IPL 2018 नीलामी में कोलकाता नाइट राइडर्स की टीम ने शुबमन गिल को 1.8 करोड़ में खरीदा था ।
शुबमन गिल का निजी जानकारी -जैसे: विकी (Wiki), जन्म स्थान (Birth Place), व्यवसाय (Occupation) आयु (Age),शिक्षा (Education), परिवार (Family) और अन्य जानकारी 

नाम                -         शुबमन गिल जन्म               -        8 सितम्बर 1999 जन्मस्थान        -       फाजिल्का , पंजाब पिता                -      लखविंदर सिंह गिल पेशा                 -      क्रिकेटर 
शुबमन गिल का निजी जीवन - Born , Education , Parents |
शुबमन गिल का जन्म 8 सितम्बर 1999 को पंजाब के फाजिल्का में हुआ था । इनके पिता का नाम लखविंदर सिंह गिल और माता का नाम किरत गिल है । शुबमन के पिता किसान थे , शुबमन ने अपने क्रिकेट की शुरूआत खेतों से ही शुरू की थी , जहा इनके पिता इनको प्रैक्…

रिद्धिमान साहा की जीवनी - Wriddhiman Saha Biography in Hindi

रिद्धिमान साहा की जीवनी - Wriddhiman Saha Biography in Hindi
नाम             -     रिद्धिमान साहा जन्मदिन       -     24 अक्टुबर 1984 भुमिका         -     विकेटकीपर बल्लेबाज  लंबाई           -    5ft 8inch  पिता             -    प्रशांत साहा टीम              -   बंगाल , सनराइजर्स हैदराबाद ,                         भारतीय क्रिकेट टीम
रिद्धिमान साहा की जीवनी - Wriddhiman Saha Biography in Hindi
Wriddhiman Saha- रिद्धीमान साहा भारतीय क्रिकेट टीम के खिलाड़ी है । साहा भारतीय टेस्ट टीम में विकेटकीपर बल्लेबाज की भुमिका निभाते है । साहा घरेलु क्रिकेट बंगाल की तरफ से खेलते है । IPL फाइनल में शतक लगाने वाले पहले बल्लेबाज है । वर्तमान में साहा आईपीएल सनराइजर्स हैदराबाद की तरफ से खेलते है ।
रिद्धिमान साहा का निजी जीवन - Early Life of Wriddhiman Saha  भारतीय विकेटकीपर बल्लेबाज रिद्धिमान साहा का जन्म 24 अक्टुबर 1984 को पश्चिम बंगाल के सिलीगुड़ी मे हुआ था । साहा के पिता प्रशांत साहा बिजली विभाग में कर्मचारी थे और माता ग्रहणी थी । साहा ने अपनी स्कुली शिक्षा " Silliguri Boys High School "  से …

बालेश्वर मंदिर चम्पावत - Baleshwar Temple Champawat in Hindi

उतराखण्ड के चम्पावत मे स्थित बालेश्वर मंदिर भगवान शिव को समर्पित एक हिंदु मंदिर है । यह मंदिर हिंदुओ के पवित्र तीर्थ स्थलों में से एक है । इस मंदिर का इतिहास सैकड़ो वर्ष पुराना है इसलिए 1952 में  भारतीय सरकार द्वारा राष्ट्रीय स्मारक स्थल घोषित कर दिया गया । मंदिर की देखभाल भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग के कर्मचारियों द्वारा की जाती है ।

बालेश्वर मंदिर चम्पावत|Baleshwar Temple Champawat in Hindi
बालेश्वर मंदिर का इतिहास | Baleshwar Temple History in Hindi -  ऐतिहासिक बालेश्वर मंदिर का निर्माण 10 - 12 शताब्दी में चंद राजाओ द्वारा करवाया गया था । मंदिर में उपलब्ध ताम्र पत्रों के अनुसार इस मंदिर का निर्माण सन् 1272 में करवाया गया था । चंद राजाओ द्वारा निर्मित इस मंदिर की वास्तुकला अत्यंत सुंदर है ।  मंदिर परिसर में रत्नेश्वर व माता पद्मावती का मंदिर भी स्थित है ।
मंदिर की वास्तुकला | Temple Architecture -
बालेश्वर मंदिर भगवान शिव को समर्पित एक हिंदु मंदिर है । मंदिर परिसर में रत्नेश्वर , चंपादेवी , बाली आदि के मंदिर भी स्थित है । इस मंदिर का निर्माण दक्षिण स्थापत्य कला द्वारा किया गया …

Purandar Fort History in Hindi - पुरंदर किले का इतिहास

पुरंदर का किला महाराष्ट्र के पुणे जिले स्थित एक ऐतिहासिक किला है । यह किला मराठा वीरों की शोर्यता का प्रतीक है । इस किले में शिवाजी महाराज के पुत्र संभाजी महाराज का जन्म हुआ था । यह शानदार और भव्य किला समुंद्रतल से 4472 फिट ऊंचा है । इस किले का नाम " पुरंदर " गाँव के नाम पर पड़ा है जो इसके समीप ही है ।

Purandar Fort History in Hindi - पुरंदर किले का इतिहास
इस किले का इतिहास सैकड़ो वर्ष पुराना है । इतिहासकारो के अनुसार इस किले का निर्माण यादव राजाओं द्वारा करवाया गया था । पर्शियन राजाओ ने यादवों को हराकर पुरंदर का किला अपने अधिकार मे ले लिया ।
सन् 1350 में इस किले का पुन: निर्माण करवाया गया था । बीजापुर और अहमदनगर के बादशाह अपना शासनकार्य इसी किले से चलाते थे ।
सन् 1646 में मराठा सरदार छत्रपति शिवाजी महाराज ने पुरदंर पर हमला करके जीत लिया । इसी जीत के साथ शिवाजी महाराज ने मराठा साम्राज्य की नींव रखी ।
सन् 1665 में मिर्जा राजा जयसिंह ने मुग़लों की सेना का नेतृत्व करते हुए पुरंदर किले पर हमला कर दिया और इसे मुगल़ साम्राज्य में मिला दिया । इस युध्द मे पुरंदर किले के किलेदार म…

काशी विश्वनाथ मंदिर कथा और इतिहास - Kashi Vishwanath Temple Story And History

काशी विश्वनाथ मन्दिर हिन्दुओं की धार्मिक और सांस्कृतिक राजधानी  वाराणसी में स्थित प्राचीन हिन्दु मंदिरों में से एक है । यह मंदिर भगवान शिव की 12 ज्योतिर्लिंगो में से एक है ।  गंगा मैया तट पर स्थित इस मंदिर के दर्शन मात्र से ही पापियों के पाप धुल जाते है । वाराणसी का प्राचीन नाम काशी है इसलिए मंदिर को काशी विश्वनाथ कहते है ।
काशी विश्वनाथ मंदिर कथा और इतिहास - Kashi Vishwanath Temple Story And History 
मंदिर का नाम  -  काशी विश्वनाथ मंदिर स्थान              -  वाराणसी , उतरप्रदेश स्थापक          -  महारानी अहिल्याबाई स्थापना वर्ष    -  सन् 1780

काशी विश्वनाथ मंदिर कथा और इतिहास - Kashi Vishwanath Temple Story And History
काशी विश्वनाथ मंदिर का स्थापना काल अज्ञात है । इस पवित्र हिन्दु मंदिर का वर्णन अनेकों शास्त्रों मे आता है , जिससे यह अंदाजा लगाया जा सकता है की यह मंदिर अधिपुराना है । इस मंदिर को लेकर अनेक धार्मिक कथाएँ प्रचलित है ।
काशी विश्वनाथ मंदिर कथा - 
इस कथा के अनुसार माता पार्वती ने भगवान शिव से पवित्र काशी नगरी मे निवास करने का आग्रह किया ।  भगवान शिव ने अपने भक्त के सपने में आकर…

रियान पराग का जीवन परिचय - Riyan Parag Biography In Hindi

Riyan Parag Biography In Hindi - रियान पराग का जीवन परिचय
रियान पराग युवा प्रतिभाशाली क्रिकेटर है ।सबसे युवा खिलाड़ी जिन्होंने मात्र 17 वर्ष की आयु मे IPL में अर्धशतक लगाया । रियान राजस्थान रॉयल्स की तरफ से खेलतें है । 


Riyan Parag Biography In Hindi - रियान पराग का जीवन परिचय
नाम  (Name                   -        रियान पराग दास जन्मदिन (Birthday )     -        10 नवम्बर 2001 जन्मस्थान (Birth Place)-        गुवाहाटी पिता (Father)                -         पराग दास पेशा                               -         क्रिकेटर  कोच (Coach)              -        पराग दास ( पिता )

रियान पराग का निजी जीवन -Riyan Parag Biography In Hindi
रियान पराग का जन्म 10 नवम्बर 2001 को असम के गुवाहाटी मे हुआ था । इनके पिता का नाम पराग दास और माता का नाम मिट्ठु बारोह है । रियान के पिता पराग दास असम के लिए रणजी खेल चुके है और इनकी माता नेशनल Swimmer रह चुकी है । 
रियान पराग का क्रिकेट -Riyan Parag Cricket 
रियान ने अपने क्रिकेट की शुरूआत बेहद कम आयु मे कर दी थी । रियान पराग ने मात्र 12 वर्ष की आयु मे Assam Under-16 …

अस्थियों को गंगा मे क्यों प्रवाहित करते है ?

अस्थियों को गंगा मे क्यों प्रवाहित करते है ?
हिंदु मान्यताओं के अनुसार  मृत्यु के उपरान्त जीवात्मा का अपने शरीर की भस्म मे मोह रह जाता है । जब तक मृतात्मा की भस्म को पवित्र गंगा मैया मे प्रवाहित नही कर दिया जाता तब तक मृतात्मा को शांति नही मिलती । इसलिए शव को तत्काल दाह कर दिया जाता है और जैसे ही चौथे दिन भस्म हाथ छुने योग्य हो जाती तब उसे पवित्र गंगा मैया मे प्रवाहित कर दिया जाता है । 

इस प्रकार मृतात्मा को विलक्षण आंनद की अनुभव होता है और आत्मा परलोक की और प्रस्थान करती है । पंचाग अस्थियों को धार्मिक भाषा मे " फुल " कहा जाता है 
यावदस्थिनी गंगायां तिष्ठन्ति पुरूषस्य च । तावद्वष्रसहस्त्राणि ब्रह्मलोके महीयते ।।
अर्थात् - मृतक की अस्थियां  जब तक गंगा मे रहती है तब तक मृतात्मा ब्रह्मलोक मे निवास करता हुआ आनन्दोपभोग करता है । 
विज्ञान का मत -
विज्ञान के अनुसार नदियों मे अस्थियां प्रवाहित करने से एक अन्य लाभ भी है । गंगा नदी कैलाश पर्वत से लेकर बंगाल की खाड़ी तक लंबा सफर तय करती है । जो सहस्त्रो वर्गमील भुमी को सींच कर उपजाऊ बनाता है । वह अपनी फॉस्फोरस की क्षमता खो देता है ।
इसमे …