Skip to main content

Posts

Showing posts from October, 2019

भानगढ़ का किला - Bhangarh Fort Story in hindi

Bhangarh Fort-भानगढ़ का किला -  Bhangarh Fort Story in hindi 
भारत का सबसे भयावह और भुतिय़ा किला भानगढ़ का इतिहास सैकडो़ वर्ष पुराना है , ऐसा कहा जाता है की किले मे नकारात्मक शक्तियों व आत्माओ का वास है। इस किले मे सुर्यास्त के उपरान्त और सुर्योदय से पुर्व प्रवेश वर्जित है ।

यह किला अपनी भुतिया गतिविधियों की वजह से सम्पुर्ण विश्व मे प्रसिध्द है । स्थानीय निवासियों की माने तो जो भी रात्रि के समय मे इस किले मे जाता है , वह वापस जीवित नही लौटता । अगर Google पर सर्च करते है " Asia's Most Haunted Fort " तो भानगढ किले का नाम सर्वोच्च पंक्ति पर मिलेगा ।
भानगढ़ का किला राजस्थान के अलवर जिले मे स्थित है , राजस्थान के मुख्य पर्यटन स्थलों में से एक है । ये किला भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग द्वारा संरक्षित है ।
भानगढ़ फोर्ट स्टोरी इन हिन्दी - Bhangarh Fort Story In Hindi
भानगढ़ का निर्माण सन् 1573 में आमेर के राजा भगवानदास ने करवाया था । इस किले के भुतिया व तबाह होने पीछे बहुत सी कहानिया प्रचलित है , जिनमे से 2 महत्वपुर्ण कहानिया आप इस पोस्ट मे जानेगे ।
बाबा बालुनाथ का श्राप 
इस कहा…

गौतम गंभीर के सुविचार - Gautam Gambhir Quotes In Hindi

गौतम गंभीर के सुविचार - Gautam Gambhir Quotes In Hindi 

नाम                   -             गौतम गंभीर

जन्मदिन            -             14 Oct. 1981

पिता का नाम      -              दीपक गंभीर

व्यवसाय/पेशा    -    राजनीतीज्ञ , क्रिकेटर

पुरस्कार             -    अर्जुन पुरस्कार , पद्मश्री


गौतम गंभीर के सुविचार - Gautam Gambhir Quotes In Hindi 

Quotes 1. "हमारा तिरंगा हमारी पहचान है, और हम अपनी पहचान का अनादर या कोई हमारी पहचान का अनादर नही कर सकते ।"

                                                     ~ गौतम गंभीर


Quotes 2. "क्रिकेट एक टीम गेम है। यदि आप अपने लिए प्रसिद्धि चाहते हैं, तो एक व्यक्तिगत गेम खेलें।"

                                                    ~ गौतम गंभीर


Quotes 3. "मुझे एक बात का एहसास था कि हर कोई अलग है, आप दो मनुष्यों की तुलना नहीं कर सकते ।"

                                                     ~ गौतम गंभीर


Quotes 4. "कोई बच्चन साहब की तरह अभिनय नहीं कर सकता या वीरेंद्र सहवाग की तरह बल्लेबाजी नहीं कर सकता।"


                   …

गुरूदेव रवींद्रनाथ टैगोर के शुध्द विचार - Quotes Of Rabindranath Tagore in Hindi

गुरूदेव रवींद्रनाथ टैगोर के शुध्द विचार - Quotes Of  Rabindranath Tagore in Hindi 


Quotes 1. खुश रहना बहुत सरल है, लेकिन सरल होना बहुत मुश्किल है।"

  ~ रवींद्रनाथ टैगोर

Quotes 2. "आप सब कुछ प्राप्त कर सकते हो अगर आपके पास क्षमता है "

  ~ रवींद्रनाथ टैगोर

Quotes 3. "उच्च शिक्षा वह है जो हमें केवल ज्ञान नहीं देती है बल्कि हमारे जीवन को सभी अस्तित्व के साथ सामंजस्य बिठाती है।"

  ~ रवींद्रनाथ टैगोर

Quotes 4. "एक दीपक केवल दूसरे दीपक को तब जला सकता है जब वह अपनी लौ में जलता रहे।"

          ~ रवींद्रनाथ टैगोर

Quotes 5. "जब तक आपने अपनी आत्मा में ईश्वर को नहीं पाया है, तब तक पूरी दुनिया आपके लिए निरर्थक प्रतीत होगी।"

    ~ रवींद्रनाथ टैगोर

Quotes 6. "शिक्षण का मुख्य उद्देश्य स्पष्टीकरण देना नहीं है, बल्कि मन के द्वार पर दस्तक देना है।"      

      ~ रवींद्रनाथ टैगोर

Quotes 7. "आप केवल खड़े होकर पानी को घूर कर समुद्र पार नहीं कर सकते।"

      ~ रवींद्रनाथ टैगोर

Quotes 8. "आइए हम खतरों से बचने की प्रार्थना करें लेकिन उनका सामना करते सम…

क्रांतिकारी वीर भगत सिंह के प्रेरणादायक विचार -Veer Bhagat Singh Quotes in Hindi

Veer Bhagat Singh Quotes in Hindi भगत सिंह माँ भारती के सच्चे वीर सपुत थे , भारत के स्वत्रंता अभियान के मुख्य क्रांतिकारी थे । माँ भारती के रक्षार्थ मात्र 23 वर्ष की आयु मे फाँसी के तख्ते पर चढने वाले भगत सिह हमेशा के लिए अमर हो गये ।

क्रांतिकारी वीर भगत सिंह के प्रेरणादायक विचार -Veer Bhagat Singh Quotes in Hindi 
Quotes 1."व्यक्तियों को मारना आसान है लेकिन आप विचारों को नही मार सकते। ”
                                             - Bhagat singh


Quotes 2. "बहरों को सुनाने के लिए धमाकों की आवश्यकता होती है ".               - Bhagat singh


Quotes 3. "वे मुझे मार सकते हैं, लेकिन वे मेरे विचारों को नहीं मार सकते। वे मेरे शरीर को नष्ट सकते हैं, लेकिन वे मेरी आत्मा को नष्ट नहीं पाएंगे। ”
                                                - Bhagat singh


Quotes 4. "इस कदर वाकिफ है मेरी कलम मेरे जज़्बातों से,
अगर मैं इश्क़ लिखना भी चाहूँ तो इंक़लाब लिखा जाता है। "                                                 - Bhagat singh


Quotes 5. "निर्दयी आलोचना और स्वतंत्र सोच …

History of Bicycle in Hindi-साईकल का इतिहास

19 अप्रैल को World bicycle day  मनाया जाता है । क्या आप जानते है , bicycle का अविष्कार किसने किया और क्यों किया ?

bicycle का इतिहास बहुत पुराना है । वर्तमान समय मे देश को pollution मुक्त करने के लिए bicycle को बढावा देना चाहिए ।


  साईकल का इतिहास -  History of Bicycle in Hindi
साईकल इतिहास बहुत पुराना है , इतिहासकारो के अनुसार साईकल का अविष्कार 1418 मे इटली के Giovanni fontana द्वारा किया गया । यह साईकल 4 पहिये की हुआ करती थी । लेकीन समय के साथ - साथ इसमे परिवर्तन होते गये ।

400 साल बाद जर्मनी के karl freiherr von drais ने cycle को एक नया आकार दिया , 1817 में उन्होंने cycle को 4 पहिये़ से 2 पहिये़ मे बदला । अब लोगों को cycle चलाने मे आसानी होने लगी थी ,इस कारण ये अाविष्कार युरोप मे बहुत प्रसिध्द हुआ । युरोप मे इस cycle को hobby horse के नाम से विख्यात हुई ।

लेकीन इस cycle मे अभी भी बहुत सी कमियां थी , अभी भी बहुत से बदलावों की आवश्यकता थी । इस साईकल को चलाने के लिए पैरों को पीछे धकेलना पड़ता था , यह कार्य बहुत ही थका देने वाला था ।

साईकल हेतु पैंडल बनाने का श्रेय स्कॉटलैंड के एक लौह…

Top Motivational quotes on dreams in Hindi

Top Motivational quotes on dreams in Hindi.
"एक हजार मील की यात्रा एक कदम के साथ शुरू होनी चाहिए"

 "भविष्य उन लोगों का है जो अपने सपनों में विश्वास करते हैं।"

" केवल एक चीज है जो एक सपनों पुरे करने मे बाधा उत्पन्न करता है : विफलता का डर

 "अपने दिल को सपनों के लिए खुला रखें। जब तक कोई सपना है, तब तक आशा है, और जब तक आशा है, तब तक जीने में आनंद है।"

 "सपनों के बिना साहस नहीं हो सकता और साहस के बिना कोई कार्य नहीं हो सकता।"

 "ख्वाब ऐसे देखो कि मानो आप हमेशा जिंदा रहेंगे, जीना ऐसा कि मानो आप आज ही मर जाएंगे।"

 "अपनी आंखों को सितारों पर रखो, और अपने पैरों को जमीन पर।"

 "गति को जारी रखने का एक तरीका - लगातार अधिक से अधिक लक्ष्य रखना है।"

 "आप बस उस व्यक्ति को नहीं हरा सकते जो कभी हार नहीं मानता।"

  “तुम जहां हो वहीं शुरू करो। जो तुम्हारे पास है, उसका उपयोग करो। जो तुम कर सकतो हो वो करो।

संत पीपा का जीवन परिचय (biography of sant pipa)

संत पीपा एक विलक्षण संत थे . उनका चरित्र परम अद्भुत था , वे स्वामी रामानंद के शिष्य थे । संत कबीर और रैदास के समकालीन थे । संत पीपा की सबसे बडी़ मौलीकता यह है की उन्होने अपने विशाल राज्य को लात मारकर परमतत्व राम का भजन किया ।
संत पीपा गागरौन गढ के राजा थे । वे मेवाड़ के महाराणा कुम्भा के सम्बन्धी थे ।

संत पीपा का जीवन परिचय (biography of sant pipa)



संत पीपा जी महाराज का इतिहास -
संत पीपा जी का जन्म राजस्थान के गांगरौन ( झालावाड़ ) मे हुआ था । बाल्याकाल से ही आपके अंदर भक्तिभावना अंकुरित थी , वे देवी भगवती के परम भक्त थे । इनका मन राजसी कार्यो मे नही लगा आपकी बारह रानिया थी । आप साधु संतो की सेवा मे हमेशा तत्पर रहते थे ।


स्वामी रामानंद जी से दिक्षा -
एक रात पीपा जी सो रहे थे , उन्हें एक स्वप्न आया जिसमे देवी ने उनको आदेश दिया की काशी जाकर स्वामी रामानंद जी से दीक्षा लो । स्वप्न समाप्त होने पर आंखे खुल गई । उन्होनें देवी के आदेशानुसार रात्रि के समय काशी की ओर निकल पडे़ । भगवान को पाने के लिए वे इतने उत्सुक थे की उनके लिए परम सुलभ राजसुख और विनश्वर भोग्य पदार्थो मे निरसता ही निरसता दिखने …