Skip to main content

काशी के संत हरिहर बाबा

काशी के संत हरिहर बाबा -

संत हरिहर बाबा राम के परम रसिक महात्मा था , बाबा भगवान राम के परमभक्त थे । इन्होने अपना पुर्ण जीवन काशी की घाटों पर ही गुजारा । इनकी कृपा से असंख्य लोगों ने आध्यात्मिक शांति प्राप्त की । जीवन के अंतिमकाल तक काशी के भगवती भागीरथी मे नाव पर निवास किया । बाबा भक्तो की कतार हमेशा लगी रहती थी , बाबा के भक्तो मे स्वंय काशी स्म्राट , मदन मोहन मालवीय आदि थे । बाबा सिध्द और दुरदर्शी संत थे ।


बाबा हरिहर का जन्म और प्रारंभिक जीवन --


बाबा हरिहर का जन्म बिहार के छपरा जिले के जाफरपुर ग्राम मे एक प्रतिष्ठीत ब्राह्मण परिवार मे हुआ था । इनके बचपन का नाम सेनापति तिवारी था । इनके माता-पिता बड़े पवित्र विचारो के थे । देवयोग से सेनापति की अल्पावस्था मे ही उनके माता - पिता का देहान्त हो गया था । सेनापति का मन सहसा भगवान की ओर लग गया । कुछ समय तक सोनपुर और भागलपुर मे विद्याध्ययन किया । इसी समय इनके छोटे भाई हरिहर का देहान्त हो गया । इस घटना ने सेनापति के जीवन को पुर्ण रूप से बदल दिया । अब इनके मन मे वैराग्य का उदय हो गया , सेनापति भगवान राम की जन्मस्थली अयोध्या गये ।


हरिहर बाबा का आध्यात्मिक जीवन --

सरयु के तट पर रहकर इन्होने कठीन तप का जीवन अपनाया , कठोर से कठोर उपवास व्रत मे संग्लन रहकर वे परमात्मा के चिंतन मे निमग्न हो गये ।
अल्पाहार से संतोष कर लेने का स्वभाव बना दिया ।

 काशी दर्शन की उनकी बड़ी इच्छा थी । वे तप करने के लिए बाबा विश्वनाथ की पवित्र धरती काशी आ गये । काशी आने पर भगवती गंगा मे ही नाव पर निवास करने का नियम बना लिया , इस नियम का पालन इन्होने आजीवन किया । उनकी काशी और गंगा के प्रति भक्ति असाधारण कोटि की थी । काशी मे वे हरिहर भैया के नाम से प्रसिध्द हुए । काशी निवास-काल के दौरान उनका सम्पर्क महात्मा वितारागानन्द से हुआ , महात्मा जी के प्रति बडी़ आस्था रखते थे बाबा हरिहर जी ।


हरिहर बाबा शौंच आदि के लिए गंगा के उस पार जाया करते थे । कड़ी से कडी़ गर्मी , भयानक सर्दी और अपार वर्षा का सामना कर वे अपने नियम का पालन करते रहे । कभी कभी तो नाव के अभाव मे तैर कर गंगा पार चले जाते थे । वे असाधारण हठयोगी थे , वे परमहंस थे । संसार के प्रदार्थ और प्राणियो मे उनकी तनिक भी ममता नही रह गयी थी ।


हरिहर बाबा के चमत्कार --

संत का जीवन दिव्य घटनाओ से सम्पन्न होता है । संत हरिहर बाबा के जीवन मे अनेक दिव्य घटनाओ का होना पाया गया है । एक समय की बात है , बाबा के पैर मे नागफनी का काँटा गड़ गया , वे शान्त रहे पर जब उन्होने सुना की महाराज वीतरागानन्द को भी नागफली का काँटा चुभ गया तो उन्होने कहा की "नागफली का काँटा सबको दुख देता है , उसका नष्ट होना ही उचित है " । लगभग दो दिन के पश्चात गंगा के दोनो किनारो पर नागफली का नामो निशान मिट गया । बाबा वाग्सिध्द महात्मा थे , एक शब्द भी व्यर्थ नही बोलते थे ।



राम नाम मे उनकी बड़ी निष्ठा थी । एक बार हरिहर बाबा शौच निवृत हेतु नाव से गंगा के उस पार जा रहे थे । गंगा का जल बाढ पर था , धारा वेगवती थी । नाव डुबने लगी , केवट ने बड़ी कोशिश की लेकीन कुछ फर्क न पड़ा ।  बाबा ने केवट को यत्न करने से मना कर दिया । बाबा के आदेश से लोग राम नाम जपने लगे । देखते ही देखते नाव डुबने से बच गयी । काठ की नाव डुबने से बच गयी ।


हरिहर बाबा का अंतिम समय --

जीवन के अंतिम दिनो मे वे केवल गंगा जलपान ही करते थे । आषाढ शुक्ल पंचमी शुक्रवार को रात मे साढे ग्यारह बजे इस नश्वर शरीर का परित्याग कर परमधाम की यात्रा की ।


हरिहर बाबा से जुड़ी रोचक बातें --

* आपके बचपन का नाम सेनापति था । आपकी जन्मभुमि बिहार थी

*  बाबा अपने जीवन के अंतिमकाल तक काशी मे निवास किया ।

* इन्होने दिगम्बर वेष में गंगा मे खड़े होकर सुर्य से नेत्र मिलाकर लम्बें समय तक तपस्या की ।

* बाबा भगवान राम के परम भक्त थे । इन्होने अपने भक्तो को राम नाम जाप की शिक्षा दी ।

* वे निष्काम और आत्मज्ञानी संत थे ।

* बाबा के भक्तो की सुची मे बड़े बड़े नाम थे , जिसमे मदन मोहन मालवीय और काशी के महाराज भी थे ।

* हरिहर बाबा शौच के लिए गंगा के उस पार जाया करते थे ।



हरिहर बाबा के अनमोल वचन --

* यदि काशी और गंगाजी के बदले स्वर्ग भी मिले तो मंजूर नही ।

* सन्यांसी को कथनी के अनुूरूप कार्य करना चाहिए ।

* अध्यात्म-पथ के पथिको को विघ्न-बाधाओ से नही घबराना चाहिए ।

* प्राणीमात्र को काशीवास , गंगाजल-सेवन , सत्संग और परमात्मा का भजन करना चाहिए । 

Comments

Popular posts from this blog

Filmyzilla 2020 : South indian Movie , Bollywood Movie , Hollywood Movie , Tv Show |

Filmyzilla 2020 : भारत के उन पायरेटेड वेबसाइटस् में से एक है जो Movie Release होने के तुरंत बाद अपनी वेबसाइटस् पर Latest Movies , South indian dubbed movie , Bollywood Movies , Hollywood Movies , Tv Shows अपनी वेबसाइटस् पर उपलब्ध करवाती है । जिसे आप आसानी से Movie Download कर सकते है ।

अगर आप Filmyzilla 2020 पर Movies या  Tv Show डाउनलोड करने जा रहे है तो कृप्या आप इस पोस्ट को जरूर पढे , क्योंकि इसमें हम आपको Filmyzilla 2020 के बारे में सब कुछ बताने वाले है ।

हम आपको यह भी बताऐंगे की Filmyzilla 2020  से Movie डाउनलोड करना चाहिए या नही , अगर करना चाहिए तो कैसे ?


Filmyzilla 2020 : South indian Movie , Bollywood Movie , Hollywood Movie , Tv Show |
Filmyzilla क्या है 
 Filmyzilla एक पॉपुलर पाइरेटेड वेबसाइट है जो Movie Release के तुरंत बाद उन Movies  को अपनी साइट पर अपलोड करती है । इस वेबसाइट पर Bollywood movies , South indian Movie , Malalayam Movies , Tamil Movie , Hollywood Movie , Tv Show गैर - कानुनी रूप से अपलोड और डाउनलोड किये जाते है ।

यहा से आप South indian Movie 2020 Download कर सक…

Navin Kumar Kabaddi Biography In Hindi -नवीन कुमार का जीवन परिचय

Navin Kumar Kabaddi Biography In Hindi -(Dabbang Delhi ) , ( PKL)




नाम              -         नविन कुमार गोयत 
उपनाम         -          नविन एक्सप्रेस

पेशा            -           कब्बडी (रेडर )
जन्मदिन      -            14  फरवरी 2000

डेब्यू           -         प्रो कब्बडी सीजन 6  (2018 )
ताकत       -          रनिंग हैंड टच

कोच         -           कृष्णा कुमार हूडा 

शारीरिक रूप -

लम्बाई         -  5 फिट 10 इंच 

वजन         -    76 किलोग्राम 

निजी जीवन   - 
जन्म स्थान   - भिवानी हरियाणा ( भारत ) 

  शिक्षा          -   बी,ए

जन्म स्थान   - भिवानी हरियाणा ( भारत )  धर्म             -  हिन्दू 
जाति           -  जाट 

विवाह         - नहीं हुआ

यशस्वी जायसवाल जीवनी - Yashasvi Jaiswal Biography In hindi

Yashasvi Jaiswal - घरेलु क्रिकेट में दोहरा शतक लगाने वाले सबसे युवा खिलाड़ी यशस्वी जायसवाल अपना घरेलु क्रिकेट मुंबई की तरफ से खेलते है । जायसवाल सलामी बल्लेबाज के तौर पर टीम में अपनी भुमिका निभाते है । यह युवा प्रतिभाशाली खिलाड़ी आईपीएल में राजस्थान रॉयल्स की तरफ से खेलते है ।
यशस्वी जायसवाल को संघर्ष का दुसरा नाम कहे तो कोई हर्ज नही होगा क्योंकी इन्होंने इस मुकाम पर पहुचनें के लिए बहुत संघर्ष और परिश्रम किया है ।
यशस्वी जायसवाल जीवनी - Yashasvi Jaiswal Biography In hindi
नाम(Name)    -     यशस्वी जायसवाल जन्मदिन(Birthday)  - 28 दिसम्बर 2001 पिता(Father)    -     भुपेंद्र कुमार जायसवाल माता(Mother)   -     कंचन जायसवाल प्रशिक्षक(Coach)  -   ज्वाला सिंह टीम(Team)         - मुंबई , राजस्थान रॉयल्स

यशस्वी जायसवाल जीवनी - Yashasvi Jaiswal Biography in hindi क्रिकेटर यशस्वी जायसवाल का जन्म 28 दिसम्बर 2001 को उतरप्रदेश के भदोही जिले के सुरियावां गाँव में हुआ । इनके पिता का नाम भुपेन्द्र कुमार जायसवाल है , जो एक छोटी सी हार्डवेयर दुकान के मालिक है और यशस्वी की माता का नाम कंचन जायसवाल है , जो एक ग…